युधिष्ठिरः विक्रम शालिवाहनौ मुद्रण
युधिष्ठिरः विक्रम शालिवाहनौ
ततो नृपः स्याद्विजयाभिनन्दनः ।
ततस्तु नागार्जुन भूपतिः कलौ
कल्किः षडेते शककारकाः स्मृताः ॥

युधिष्ठिर, विक्रमादित्य, शालिवाहन, विजयाभिनंदन, नागार्जुन, और कलियुग में कल्कि (होगा) – इन छे से शक (भारतीय कालगणना) प्रारंभ हुई (होगी) ।