वृद्ध-श्रोतव्यं खलु मुद्रण ई-मेल

वृद्ध
श्रोतव्यं खलु वृध्दानामिति शास्त्रनिदर्शनम् ।
वृद्धों की बात सुननी चाहिए एसा शास्त्रों का कथन है ।

Comments (0)
Only registered users can write comments!
 

[+]
  • Increase font size
  • Default font size
  • Decrease font size
 Type in